कोरोना की जंग में ऐसा रहा भारत का योगदान, जानें ग्राउंड रियलिटी रिपोर्ट

Please follow and like us:

Coronavirus in India Hindi –  इस समय पूरा देश खतरनाक कोरोना वायरस के खतरे से लड़ रहा है।  सारे देश इससे लड़ने के लिए अलग-अलग तरीके अपना रहा है, लेकिन लक्ष्य सबका ही एक है ‘कोरोना को हराना और लोगों को इस बीमारी से बचाना’। कोविड 19 (Covid 19) से होने वाली मौतों की दर (Mortality Rate) के मामले में भारत की स्थिति कई देशों से बेहतर बताई जा रही है। भारत में रिकवरी रेट 88.1% है, जो अमेरिका, फ्रांस, इटली और स्पेन की तुलना में बेहतर है। कोरोना के चलते अमेरिका में अक तक 58,786 से ज़्यादा लोग अपनी जान गंवा चुके हैं। कोरोना के कारण हर जगह लॉकडाउन किया गया है जिसके कारण आर्थिक क्षति हो रही है| तो चलिए इस लेख के ज़रिये हम आपको ग्राउंड रियलिटी बताते हैं और बताते हैं कि कैसे लोगों द्वारा एकजुट होकर भारत को इस युद्ध से मुक्ति मिलेगी|

coronavirus in india hindi

Coronavirus in India hindi | भारत में कोरोना वायरस- पीएम मोदी- कोरोना वॉरियर्स

  • भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्री को आज ग्लोबल लीडर के रूप में पहचाना जाता है, क्योंकि उन्होंने बाकी देशों की तुलना में कोरोना महामारी को ज़्यादा बेहतर तरीके से संभाला है| यह सभी भारतीयों के लिए गर्व की बात है कि सही समय पर इस बीमारी से लड़ने के लिए मोदीजी ने लॉकडाउन को लागू किया।
  • मोदी जी के इस कार्य की सराहना डब्ल्यूएचओ ने भी की। इसके साथ ही दुनिया के अलग-अलग देशों के नेताओं और हर क्षेत्र के विशेषज्ञों ने भी मोदी के इस कार्य की सराहना की है|
  • ये सफलता भारत को #Covidwarriors, हमारी स्वास्थ्य सेवा टीमों, पुलिस कर्मियों, स्वच्छता कर्मचारियों, सिविल सेवा कर्मचारियों, अर्ध-सैन्य बलों, परिवहन और रसद टीमों, ड्राइवरों और पायलटों द्वारा किए गए काम से संभव हो पाई है।
  • इसके अलावा कई राज्य के राजनेताओं ने भी राजनीतिक झगड़ों को दूर रखते हुए मोदी सरकार को पूर्ण समर्थन दिया, वह भी प्रशंसनीय है| मगर अब भी बड़ा सवाल यह है कि क्या आम जनता जो फ्रंटलाइन पर काम नहीं कर रही है वह इस युद्ध में अपना रोल समझ पाएंगे|
  • मीडिया-रिपोर्टस के अनुसार कई बार इस संक्रमण के लक्षण दिखाई पड़ते हैं और कई बार बिल्कुल नहीं दिखते हैं|

भारत में कोरोना वायरस – ग्राउंड रियलिटी – Coronavirus in India Hindi

  • लॉकडाउन का मकसद सिर्फ संक्रमित व्यक्तियों की संख्या को नियंत्रण रखना है, मगर इससे यह गारंटी नहीं ली जा सकती है कि इससे वायरस जड़ से खत्म हो जायेगा|
  • वहीं यूके के डॉक्टर, सर्जन शैलेंद्र सिंह, इस वायरस के खिलाफ लड़ाई में सक्रिय ड्यूटी पर हैं और अपने कार्य को पूरी ज़िम्मेदारी के साथ कर रहे हैं। उनका मानना है कि भारत में हर व्यवस्था को अच्छी तरह से पूरा किया गया है| भारत में स्वास्थ्य सेवा का पूरा ध्यान रखा जा रहा है।
  • Abu के ग्लोबल हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर के डॉ. सुधीर सिंह का मानना ​​है कि भारत लॉकडाउन के कारण संक्रमित रोगियों के परीक्षण और उन्हें संभालने में स्वास्थ्य सेवा टीमों की तैयारी करने का ज़रुरी समय देने में सहायक साबित हुआ है|
  • भारत के कई हिस्सों में संक्रमण न फैले इसके लिए लोगों को क्वारंटाइन किया गया और आइसोलेशन वार्ड बनाये गए। कुछ जगह जहां संक्रमण का खतरा कम था वहां 45 दिनों तक रेड ज़ोन बनाया गया। इस संक्रमण के खतरे से लोगों को बचाने के लिए सुरक्षा और सावधानी ही तरीका है क्योंकि अभी तक इसका इलाज ढूंढा जा रहा है| संक्रमण के खतरे को रोकने के लिए सभी रेड ज़ोन में लॉकडाउन जारी रहेगा|

Coronavirus in India Hindi

आने वाले समय में आम लोगों को सरकार के प्रयासों का सहयोग करते हुए इन नियमों का पालन करना चाहिए-

  • जब तक कोई बहुत ज़रुरी काम न हो घर से बाहर न निकलें| हेल्थ डिपार्टमेंट के द्वारा दिए गए निर्देशों का पालन करना करें, https://www.mohfw.gov.in/
  • घर से निकलते समय मास्क और दस्ताने पहन लें और समय – समय पर मास्क और दस्ताने धोएं|
  • घर वापस आने के बाद हाथ, पैर, जूते, चप्पल, अच्छे से धोएं और अल्कोहल युक्त सैनिटाइज़र स्प्रे करें|
  • कपड़े बदले और उन्हें धोने के लिए छोड़ें।
  • बाज़ार से सामान लाने के बाद फल, सब्जियां या कोई भी सामन अच्छे से धोएं|
  • बाहर से लाए सामान को धोने के बाद शरीर के सभी भागों को धो लें और सैनिटाइज़र का उपयोग करें|

The Medical Remedy | इसका इलाज – Coronavirus in India Hindi

lockdown

  • दुनिया भर के वैज्ञानिक कोरोना को मिटाने के लिए एक प्रभावी टीका – दवा बनाने में लगे हैं। कुछ परीक्षण पहले से ही चल रहे हैं, हालांकि, एक वैक्सीन बनाने से पहले उचित ​​प्रक्रिया / प्रोटोकॉल का पालन किया जाता है, तब इसकी मंज़ूरी दी जाती है। यह एक लंबी प्रक्रिया है। इसके इलाज के बारे में अभी कुछ नहीं कहा जा सकता|

Coronavirus in India – The Implications – भारत में कोरोना वायरस

  • एक निष्कर्ष के तौर पर लॉकडाउन खत्म होने के बाद भी हमें आस-पास वायरस के साथ रहना सीखना होगा| डॉ.सुधीर और डॉ.शैलेन्द्र के अनुसार, व्यक्तिगत स्वच्छता और सामाजिक दूरी ही इसका रास्ता है|
  • हालांकि इस दौरान भारतीयों ने नमस्ते के कल्चर को बाकी देशों से भी जोड़ दिया है। अब तो कई जगह हाथ जोड़कर नमस्कार करना एक ट्रेंड बन गया है| यूके भी उन देशों की सूची में शामिल है, जहां एक दूसरे को हाथ जोड़कर ’नमस्ते’ किया जा रहा है| अब हर जगह हैंडशेक ( हाथ मिलाने) से बचा जा रहा है|

Coronavirus in India Hindi

वही आयुष मंत्रालय द्वारा भी इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए भी कुछ सुझाव दिए गए हैं|

  • मगर डॉ. सुधीर सिंह कुछ बातों को लेकर परेशान हैं। उनका मानना ​​है कि इस महामारी का प्रभाव लोगों की मानसिक स्थिति पर पड़ रहा है| ऐसे में मानसिक स्थिति और स्वास्थ्य को सही रखने के लिए वेदों और महाकाव्य गीता का ज्ञान लेना लोगों के लिए सहायक हो सकता है|
  • दिल्ली स्थित एक प्रसिद्ध ईएनटी विशेषज्ञ डॉ. ललित मोहन पाराशर ने लोगों को इस वायरस से बचने के लिए आयोडीन गार्गल यानी गरारे करने की सलाह दी है। साथ ही कुछ बूँदें नाक में डालने के लिए कहा है| आयोडीन बाज़ार में बीटाडीन गार्गल और ड्रेज़ गार्गल (DREZ GARGLE) के रूप में आसानी से उपलब्ध है।

घर के अंदर रहें, सकारात्मक रहें, सुरक्षित रहें ( Stay Indoors, Stay Positive, Stay Safe.)

Coronavirus in India Hindi

Must read- Surviving the nCovid war, Ground realities and what will make India win this war

Must read- कोरोना ने हमारे काम का तरीका बदला, अब हमें आत्मनिर्भर बनना होगा

Must read- कोरोना वायरस ट्रैकर ऐप ‘आरोग्य सेतु’को ऐसे करें डाउनलोड

Must read- जानें कोरोना वायरस से भारतीय अर्थव्यवस्था कितनी प्रभावित है

Must read-जानें क्या है आइसोलेशन, कोरोना से बचने के लिए क्यों ज़रुरी है?

Read more stories: Coronavirus in India Hindiहमारे फेसबुकट्विटर और इंस्टाग्राम पर हमें फ़ॉलो करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

The content and images used on this site are copyright protected and copyrights vests with their respective owners. We make every effort to link back to original content whenever possible. If you own rights to any of the images, and do not wish them to appear here, please contact us and they will be promptly removed. Usage of content and images on this website is intended to promote our works and no endorsement of the artist shall be implied. Read more detailed ​​disclaimer
Copyright © 2022 Tentaran.com. All rights reserved.
× How can I help you?