Daughters Day Kavita in Hindi: यहां पढ़ें बेटियों के लिए सुंदर कविताएं

Please follow and like us:

Daughters day kavita in Hindi – Daughters day poem in hindi – Daughter day per kavita in hindi – Poem on Daughter in Hindi, Beti Par Kavita – इस संसार में जितना महत्वपूर्ण पद बेटों का है, उतना महत्वपूर्ण तथा आवश्यक पद बेटियों का भी है। दोनों का स्थान अलग है, किन्तु महत्व समान है। बेटियों के बिना घर का बनना असंभव है। बेटी ही सर्वजगत का आधार है। प्राचीनकाल से लेकर वर्तमान तक बेटियों ने सदैव समाज के सामने उदाहरण साबित किया है। देश के हर क्षेत्र में बेटियों ने अपना नाम रोशन किया है। तो आज हम डॉटर्स डे के शुभ दिन बेटियों के लिए कुछ कविताओं को लेकर प्रस्तुत हुए हैं। यह कविताएं बेटियों से संबंधित हैं। इन कविताओं को आप डॉटर्स डे के दिन अपनी बेटियों, बहनों को भेज सकते हैं और उन्हें अच्छे से डॉटर्स डे की शुभकामनाएं दे सकते हैं।daughters day kavita in hindi

Daughters day kavita in Hindi – Daughter day per kavita in hindi – Daughter Poem in Hindi – Beti Par Kavita in Hindi

बेटियों के बिना राखी का त्यौहार नहीं बनता है,
बेटियों के बिना ये संसार कहां चलता है,
बेटियों के बिना ना जग, ना जगदीश्वर है,
बेटियों के बिना किसी ने पीढ़ी कहां पाई है,
बेटियों के बिना कोई प्यार नहीं बढ़ता है,
बेटियों के बिना ये संसार कहां चलता है।

Poems On Daughter, Hindi Poems On Beti

आंगन की तुलसी होती हैं बेटियां,
मन की निर्मल शीतल होती हैं बेटियां,
दिल की धड़कन होती हैं बेटियां,
अपनी छत की चिड़ियां होती हैं बेटियां,
पायल की रुनझुन सी होती हैं बेटियां,
सर का सुंदर ताज होती हैं बेटियां,
खुशियों से भरी शाम होती हैं बेटियां,
साल के हर त्योहार की जान होती हैं बेटियां।

Daughters day kavita in Hindi – Daughters Day Poem in Hindi

घर की शान होती हैं बेटियां ,
हर रिश्ते की डोर होती हैं बेटियां ,
मां,बहन, बेटी, बहू अनेक रूप में होती हैं बेटियां,
गुड़ शक्कर से मीठी होती हैं बेटियां,
पापड़ी, मठरी से नमकीन होती हैं बेटियां,
भाई की प्यारी बहन होती हैं बेटियां,
मम्मी के लिए सगी सहेली होती हैं बेटियां,
होली के रंग में गुलाल होती हैं बेटियां,
रंग भरी पिचकारी से निकली फुहार होती हैं बेटियां।

Must Read:डॉटर्स डे पर अपनी बेटी को भेजें ये प्यार भरे संदेश

बेटी पर कविता – बहादुर बेटी पर कविता

सावन के झूलों सी, धान के पौधों सी,
सृष्टि का श्रृंगार, समाज का आधार,
हर रिश्तें का एहसास, देवी का आभास,
है अनमोल यह कृति बेटी है जिसका नाम।
खेतों में हरियाली जैसी लहलहाती सी,
प्यासे की प्यास बुझाती सी,
हल्के – हल्के हाथ में अपने जीवन को संवारती सी,
हर रिश्तें का एहसास, देवी का आभास,
है अनमोल यह कृति बेटी है जिसका नाम।

Daughters day kavita in Hindi – Beti Kavita in Hindi

बंजर धरती पर ओस की बूंद बनकर जो गिरे वो बेटियां हैं,
तेज़ दोपहर में शीतल पवन का झोंका बनकर जो निर्मल करे वो बेटियां हैं,
अपनी खुशबू से बांगों में बहार लाए वो बेटियां हैं,
दिल का रिश्ता जो दिल से निभाती हैं वो बेटियां हैं,
हर चेहरे पर खुशी उत्साह भरती हैं वो बेटियां हैं,
तुम जो सोचते नहीं, पर जो कर जाती हैं वो बेटियां हैं।

भारत की बेटी पर कविता

जिनके घर जन्म लेते हैं बेटे,
वे माता – पिता अति भाग्यशाली होते हैं।
जिनके घर जन्म लेती हैं बेटियां,
वो सौभाग्यशाली होते हैं।

जिनके घर जन्म लेते हैं बेटे,
उस घर में स्वाभिमान भाव होते हैं,
जिनके घर जन्म लेती हैं बेटियां
उस घर में मान सम्मान के भाव होते हैं।

Daughters day kavita in Hindi – Poem on Beti Hindi me

जन्म हो अगर बेटी का, तो घर में लक्ष्मी आई है
सेवा करो, ईमानदारी से, यह घर में तुम्हारे आई है,
परियों सी प्यारी बिटिया, तुम्हारे जीवन में आई है
स्वागत करो अपने जीवन में, नई बहार आई है।

आज कल में हर पल में बिटिया की मुस्कान छाई है
स्वागत करो अपने जीवन में, नई बहार आई है।
प्यार, स्नेह, त्याग की मूर्ति बनकर जो आई है,
तुम्हारे जीवन को सुखमय बनाने वो आई है,
स्वागत करो आपके जीवन में नई बहार आई है।

Hindi Poem on Betiya – मेरी बेटी कविता

फूलों सी है कोमल और नाज़ुक है मेरी गुड़िया,
मेरे लिए तो अब यही है मेरी दुनिया,
उसकी महक से महक उठता है आंगन,
उसकी आवाज़ से गूंजता है घर द्वार मेरा।

गद -गद भाव से दिल भर जाए मेरा,
जब बाबा कहकर पुकारे मेरी गुड़िया,
घोड़ा पालकी की सवारी करते हैं,
प्यार से भैया को मनाती है मेरी गुड़िया।

Daughters day kavita in Hindi – बेटी एक वरदान पोएम इन हिंदी

वापस घर से लौटते ही मेरे लिए
भाग कर पानी लाती है मेरी गुड़िया।
लड़ने लगूं कभी मां से उसकी,
तब मीठी डांट लगाती है मेरी गुड़िया।

परिवार में बेटी एक एहसास होती है,
कपट द्वेष से दूर मनमोहक परी होती है,
चिलचिलाती धूप में, छाया के समान होती है,
वो उदास मन की खिली मुस्कान सी होती है,
घर के आंगन में चिड़ियों की जैसी होती है,
अन्धकार की रात में उजाले की आस होती है,
प्रश्नों का सरल जवाब होती है,
रंग बिरंगी तितलियों सी होती है,
हर असंभव काम को संभव कर जाती है,
यह दुनिया की आधार होती है।

Daughters day kavita in Hindi – बेटी और पिता की कविता

बेटी का हर रुप है सुहाना,
स्नेह, प्यार से भरे हृदय का,
नहीं है कोई ठिकाना,
ममता का आंचल ओढ़ी है,
मां के रूप में वो महामाया,
बहता है नया तराना नया तराना।

Must Read:Beautiful quotes to wish Happy daughters day to your angels

जीवन में भरी है ढेरों कठिनाई,
मगर बेटी का चेहरा देखकर,
सब हंसते जाना हंसते  जाना।

तकलीफें जितनी भी हो यहां,
सीखा नहीं उसने हारना,
है संकल्प यही बेटी का,
बढ़ते जाना, बढ़ते जाना।।

Daughters day kavita in Hindi – माँ बेटी का रिश्ता कविता

बेटी का है मान जगत में,
बेटी से है ज़माना,
बेटी से है प्यार जगत में,
बेटी ही है खज़ाना।
बेटी ही है आधार हमारा,
बेटी ही है सरोकार,
आज कल हर युग में बेटी,
बेटी का है नाम।।

लाडले होते हैं लड़के,
तो बेटियां होती हैं लाडली,
लाडली वो सबकी बनकर,
घर आंगन में डोलती हैं लाडली,
अपने मन, तन से घर बनाती,
चिड़ियों की चहचहाहट सी हैं लाडली।

Daughters day kavita in Hindi – बेटी पर कुछ सुंदर लाइनों इन हिंदी

एक घर को संभालता है बेटा,
दो घरों की लाज होती हैं बेटियां,
मेहनत करके धन कमाते हैं बेटे,
धन का सदुपयोग करती हैं बेटियां,
प्रकाश की तरह होते हैं बेटे,
चांदनी सी बिखरती हैं बेटियां,
हर रोज़ आगे बढ़ते हैं बेटे,
हर रोज़ आसमान में उड़ती हैं बेटियां।

धन दौलत, कुछ नहीं है
बेटी की प्रतिमा के आगे,
हर दुख से मुक्ति है मिलती,
बेटी की मुस्कान के आगे।

जीवन का हर क्षण भर भी
खाली है बेटी के आगे,
हर घर की रौनक है बंधी,
सूरज के प्रकाश के जैसे।

Daughters day kavita in Hindi – बेटी की मुस्कान कविता

बेटियों का नाम है अब सारे जहान में,
बेटियों का मान है अब सारे जहान में,
रोज़ – रोज़ आगे बढ़कर नाम बढ़ाती हैं,
परिवार का ऊंचा करती नाम अब सारे जहान में,

स्नेह, प्रेम, दयालुता से भरी हैं बेटियां,
देश का भार उठाने वाली हैं बेटी जहान में,
खौफ से डरकर नहीं डटकर करती सामना,
लड़ती हैं वो हक के लिए अब सारे जहान में।

बेटा – बेटी में ना कोई अंतर,
बेटा सक्षम, बेटी उज्ज्वल।
बेटा बेटी में ना कोई अंतर,
बेटा अभिलंब, बेटा अविरल।

बेटा बेटी में ना कोई अंतर,
बेटा चंदा, बेटी सूरज
बेटा बेटी में ना कोई अंतर
बेटा आरंभ बेटी अविरल।

Daughters day kavita in Hindi – बेटी पर कुछ सुंदर शायरी

तुम ही अब आन देश की,
मेरी प्यारी बेटियों,
ना हो परेशान देखकर,
ज़ंजीरों और बेड़ियों,
नहीं रोक सकता तुमको,
पर्वत कोई यह जान लो तुम
तुम ही हो अब आन देश की
मेरी प्यारी बेटियों।

आगे तुमको बढ़ना है,
एक कदम से ना पीछे चलना,
जिस दिन तुम बन जाओ कलेक्टर,
उस दिन गर्व से कहना है।
तुम ही हो अब आन देश की,
मेरी प्यारी बेटियों।

Daughters day kavita in Hindi – बेटी पर कुछ सुंदर कविता

प्यारी नन्ही उंगलियां मुझे याद तुम्हारी आती है
बड़ी हो गई मेरी बिटिया अब बचपन की याद सताती है।

फूल बाग में खेल खेलती,, झूले झूलन लगती है,
मेरी छोटी बेटी वो प्यार से सबका मन हर लेती।
मैंने तुमको सदा अपनी गुड़िया जैसा रखा है
मेरी गुड़िया, मेरी बिटिया तू अपनी मां का गहना है।

Daughters day kavita in Hindi

सूरज चंद्रमा भी देवी रूप को पूजते,
नवरात्रि के दिनों में कन्याओं के यह मानव ढूंढते
आत्म सम्मान से परिपूर्ण वो स्वयं के हित के लिए लड़ जाती हैं
बेटियां हैं वो स्वाभिमान से अपना जीवन बिताती हैं।
घर को एक सूत्र में पिरोकर रखने का हुनर जानती हैं,
नमक की धेली को भी वो शक्कर सा बनाती हैं।

Must Read:Wishing a Happy Daughter’s Day to all daughters in the world!

Daughters day kavita in Hindi, हमारे फेसबुकट्विटर और इंस्टाग्राम पर हमें फ़ॉलो करें और हमारे वीडियो के बेस्ट कलेक्शन को देखने के लिए, YouTube पर हमें फॉलो करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

The content and images used on this site are copyright protected and copyrights vests with their respective owners. We make every effort to link back to original content whenever possible. If you own rights to any of the images, and do not wish them to appear here, please contact us and they will be promptly removed. Usage of content and images on this website is intended to promote our works and no endorsement of the artist shall be implied. Read more detailed ​​disclaimer
Copyright © 2021 Tentaran.com. All rights reserved.
× How can I help you?