डॉक्टर हंसराज हाथी का दिल का दौरा पड़ने से निधन

Doctor Haathi – महशूर टीवी शो तारक मेहता का उल्टा चश्मा के डॉक्टर हंसराज हाथी का दिल का दौरा पड़ने से कल निधन हो गया। डॉ. हाथी का असली नाम कवि कुमार आजाद था। डॉ. हाथी को लोग बहुत पसंद करते थे। जैसा कि इस शो में हाथी का रोल दिखाया गया था, वैसे ही उन्हें असल जिंदगी में भी खाने का बहुत शौक था। उनके सेट पर मौजूद लोग कहते हैं कि वो सेट पर आने के बाद गुड़ मॉर्निंग बोलने की जगह सबसे पूछते थे कि आज खाने में सब क्या लाए हैं।

doctor haathi

तारक मेहता का उल्टा चश्मा के डॉक्टर हंसराज हाथी का वजन काफी ज़्यादा था। सूत्रों की मानें तो साल 2010 में कवि कुमार ने बाईपास सर्जरी करवाकर लगभग 80 किलो वजन कम किया था। कवि कुमार ने टीवी शो ही नहीं बल्कि बॉलीवुड इंडस्ट्री में भी काम किया था। कवि को असली पहचान तारक मेहता उल्टा चश्मा शो के डॉक्टर हाथी के किरदार से मिली। डॉ. हाथी ने 2 साल पहले एक ट्वीट किया था जो उनका आखिरी ट्वीट बन गया। कवि कुमार ने अपने ट्वीट में लिखा था कि किसी ने कहा है ‘कल हो ना हो, मैं कहता हूं, पल हो ना हो, हर लम्हा जियो।‘

kavi kumar azad death

तारक मेहता उल्टा चश्मा के डॉक्टर हंसराज हाथी(Doctor Haathi) अपने काम को लेकर काफी प्रोफेशनल थे। वो चाहे कितने भी परेशान हों लेकिन हमेशा सेट पर आते थे, क्योंकि उन्हें सेट पर बहुत मज़ा आता था। हंसराज हाथी की कुछ दिनों से तबियत ठीक नहीं थी। हंसराज ने कल सुबह शो के प्रोड्यूसर को कॉल कर के कहा कि वो सेट पर नहीं आ पाएंगे, जिसके बाद सभी को उनकी मृत्यु की खबर मिली।

कुछ दिनों में शो को 10 साल पूरे होने वाले थे जिस के लिए कल सभी कलाकारों की मीटिंग बुलाई थी लेकिन इससे पहले ही कवि कुमार की मृत्यु की बुरी खबर आ गई।

kavi kumar azad

उनके साथी कलाकार दिलीप जोशी इन दिनों अपने परिवार के साथ लंदन में हैं। जब उनको कवि कुमार की मृत्यु के बारे पता चला तो उनका कहना था कि मैं खबर सुनकर शॉक्ड हूं और यह बहुत बुरी खबर है। मुझे इस बारे में अपने टीम के साथियों से पता चला। जैसे ही उनका निदन हुआ मुझे लोगों के फोन आने लगे। मुझे अभी भी यकीन नहीं हो रहा कि वह इस दुनिया में नहीं हैं। कवि को याद करते हुए दिलीप जोशी बतातें हैं, कि वह बहुत अच्छे सहकलाकर थे और खुशमिजाज़ इंसान थे। वह हमेशा बहुत सकारात्मक रहते थे और सेट पर सबको खुश रखते थे। कवि हमारे सेट के लाफिंग बुद्धा थे।साथ हीदिलीप कहते हैं कि’सबका अपना पर्सनल मेकअप रूम है, हम तीन-चार लोग जैसे कि भिड़े, पोपटलाल, हाथी भाई और मैं एक कॉमन रूम में इकट्ठे होते थे और शॉट्स के पहले और बाद में खूब बातें करते थे। हम खूब मजा करते थे और उनकी बहुत याद आएगी। उनकी हर सुबह मुझे गुडमॉर्निंग मेसेज भेजने की आदत थी और वह यह एक लंबे समय से करते आ रहे थे और मैं भी उनको जवाब देता था। उन्हें इससे फर्क नहीं पड़ता था कि मैं भारत में हूँ या भारत से बाहर हूँ। हमेशा की तरह उस दिन भी उन्होंने मुझे मेसेज भेजा था और मैंने उन्हें जवाब भी दिया था। ईश्वर उनके परिवार को यह दु:ख सहने की शक्ति दें। 

ऐसी ही और जानकरी के लिए हमारे न्यूजलेटर को सबस्क्राइब करें और फेसबुकट्विटर और गूगल पर हमें फ़ॉलों करें।

Doctor Haathi

The content and images used on this site are copyright protected and copyrights vests with their respective owners. The usage of the content and images on this website is intended to promote the works and no endorsement of the artist shall be implied. Read more detailed ​​disclaimer
Copyright © 2018 Tentaran.com. All rights reserved.