Oxygen level kaise badhaye: ऑक्सीजन की कमी से जूझ रहे कोरोना पीड़ितों के लिए रामबाण है ‘प्रोनिंग सेल्फ केयर’!

oxygen level kaise badhaye

Oxygen level kaise badhaye – oxygen level kaise badhaye gharelu upay- पूरे देश में इस वक्त ऑक्सीजन की भारी कमी हो गयी है। इसी चिंता के बीच केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कोरोनावायरस रोगियों के लिए ‘प्रोनिंग सेल्फ केयर’ तकनीक की सलाह दी है। जो लोग COVID-19 से ग्रसित हैं और अपने घर में होम आइसोलेशन में हैं और जिन्हें सांस लेने में कठिनाई हो रही है उनके लिए ये तकनीक बहुत असरदार है। तो चलिए बताते हैं आपको ऑक्सीजन लेवल कैसे बढ़ाएं।oxygen level kaise badhaye

Oxygen level kaise badhaye – Body me oxygen level kaise badhaye

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने प्रोनिंग तकनीक के बारे में बताया है। स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक़ ऑक्सीजन की कमी के चलते होम आइसोलेशन में ये तकनीक बेहद फायदेमंद है। ये प्रक्रिया केवल उन लोगों के लिए है जिन लोगों को घर में साँस लेने में कठिनाई हो रही है।

प्रोनिंग क्या है?Corona me oxygen level kaise badhaye

स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, प्रोनिंग एक तरह की प्रक्रिया है जिससे रोगी अपना ऑक्सीजन लेवल खुद ही सही यानी मेनटेन कर सकता है। प्रोन पोजीशन ऑक्सीजनेशन तकनीक 80 प्रतिशत तक कारगर बताई जा रही है। इस पूरी प्रक्रिया को आपको पेट के बल लेटकर पूरी करनी होगी।

  • प्रोनिंग में मरीज को पेट के बल लेटना होता है।
  • इसके बाद एक सिरहाना मुंह या फिर गर्दन के नीचे रखना होता है।
  • एक-दो सिरहाने छाती के नीचे और दो सिरहाने टांगों के नीचे रखने होते हैं।
  • इस क्रिया में रोगी को लगातार साँस लेते रहना है साथ ही 30 मिनट से ज़्यादा इस प्रक्रिया को नहीं करना है।
  • इस प्रक्रिया का मुख्य मकसद खुद ही अपने शरीर को ज़रूरी ऑक्सीजन देना है।

प्रोनिंग आसानी से सांस लेने और शरीर में ऑक्सीजन की मात्रा बढ़ाने की एक प्रक्रिया है। कोरोना से पीड़ित जो लोग होम आइसोलेशन में हैं और जिन्हें सांस लेने में दिक्कत हो रही है उनके लिए ये प्रक्रिया बहुत कारगर है।

Must read: कोरोना के इलाज में फायदेमंद है Vitamin-C, जानें कोरोना में विटामिन सी कैसे काम करता है

क्यों जरूरी है प्रोनिंग?sharir mein oxygen level kaise badhaye

  • स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक़ प्रोनिंग प्रक्रिया वेंटिलेशन में सुधार करती है।
  • यह बेजान पड़ी कोशिकाओं को खोल देती है जिससे साँस लेना आसान हो जाता है।
  • प्रोनिंग की ज़रूरत सिर्फ तभी पड़ती है जब मरीज के शरीर में ऑक्सीजन का लेवल (SpO2) 94 से कम हो जाता है।
  • घर में आइसोलेशन के दौरान कोरोना के मरीज का ब्लड प्रेशर, SpO2 लेवल, ब्लड शुगर और टेम्परेचर (शरीर का तापमान) की नियमित जांच होनी चाहिए।
  • ऑक्सीजन की कमी से मरीज की सेहत बद से बदतर हो सकती है।
  • समय पर की गई प्रोनिंग और अच्छे वेंटिलेशन सिस्टम के ज़रिये कई ज़िंदगियां बचाई जा सकती हैं।

Must read: जानिए कोरोना का फेफड़ों पर क्या असर होता है

सिरहाने की पोजीशनghar par oxygen level kaise badhaye in hindi

  • एक सिरहाना गर्दन के नीचे रखें।
  • एक या दो सिरहाने छाती के नीचे रखें।
  • इसके बाद दो सिरहाने टांगों के नीचे रखें।
  • एक बात का ध्यान रखें कि आपको इस प्रक्रिया को 30 मिनट से ज़्यादा नहीं करना है ।

सावधानियांoxygen level kaise badhaye in hindi

  • खाना खाने के एक घंटे तक यह प्रक्रिया नहीं करनी चाहिए।
  • आप जितनी बार इस प्रक्रिया को आसानी से कर सकते हो उतनी बार ही करें जबरदस्ती इस प्रक्रिया को बार बार करने की कोशिश ना करें।
  • अपने कम्फर्ट के अनुसार आप इस प्रक्रिया को दिन में अलग -अलग चरणों में कुल मिलाकर 16 घंटे कर सकते हैं।
  • यदि किसी हिस्से पर तकिये से ज़्यादा दबाव पड़ रहा हो तो आप आप अपनी सहूलियत के हिसाब से तकिये एडजस्ट कर सकते हैं, लेकिन पोजीशन सही होनी चाहिए।
  • दबाव से यदि किसी हिस्से पर घाव पड़ते हैं तो उसका रिकॉर्ड ज़रूर रखें।

किन लोगों को नहीं करनी है प्रोनिंगoxygen level kaise badhaye – Body me oxygen level kaise badhaye

  • गर्भवती महिलाओं को ये प्रक्रिया नहीं करनी है।
  • इसके अलावा जिन लोगों की हार्ट की सर्जरी हुई है।
  • जिन्हें रीढ़ की हड्डी से जुड़ी कोई समस्या है उन्हें इस प्रक्रिया को बिलकुल भी नहीं करना चाहिए।

Must read: जानें क्या है आइसोलेशन, कोरोना से बचने के लिए क्यों ज़रुरी है?

Oxygen level kaise badhaye, हमारे फेसबुकट्विटर और इंस्टाग्राम पर हमें फ़ॉलो करें और हमारे वीडियो के बेस्ट कलेक्शन को देखने के लिए, YouTube पर हमें फॉलो करें।