क्या आप जानते हैं कि हिंदू मंदिरों में घंटी क्यों बजाई जाती है?

Hindu Temple Bells Ringing – किसी भी मंदिर में चले जाए। आपको वहाँ भगवान की मूर्ति के सामने घंटी ज़रूर मिल जाएगी, पर आपने कभी सोचा है कि मंदिरों में घंटी क्यों लगाई जाती है और हम भगवान की मूर्ति के सामने जाने से पहले घंटी क्यों बजाते है। क्या मंदिरों में घंटी होना ज़रूरी है या सिर्फ मंदिरों को सजाने के लिए घंटी लगाई जाती है?

 

hindu temple bells ringing

 

आज हम आपको बताएंगे, कि हिंदुओं के मंदिर में घंटी क्यों लगाई जाती है और इसके पीछे क्या धार्मिक और वैज्ञानिक कारण हैं

 

  • भगवान पवित्र स्थान में विराजते है। जब कोई व्यक्ति मंदिर की घंटी बजाता है, तो ‘ओम’ की शुभ ध्वनि निकलती है। मंदिरों में बजाई गईघंटी लोगो को दूर तक सुनाई देती है। जिस मंदिर में बजती हुई घंटी सुनाई देती हैं, उसे ‘जागृतदेव’ कहा जाताहै|
  • यह भक्तों की प्रार्थनाओं को स्वीकार करने के लिए देवताओं को आमंत्रित करने का एक तरीका है।
  • मंदिर में घंटी इसलिए भी बजाई जाती है ताकि बुरी ताकतें दूर रहें।
  • मंदिर की घंटियाँ किसी आम धातु से नहीं बल्कि तांबा,कैडमियम,सीसा,निकल,जस्ता,मैंगनीज और क्रोमियम सहित मिश्रितधातु से बनाई जाती है। घंटी द्वारा बनाई गई विशिष्ट ध्वनि बाएं और दाएं मस्तिष्क (दिमाग़) की एकता के लिए ज़िम्मेदार है। मंदिर में घंटी को अगर आप एक बार बजाते है तो उसकी आवाज़ कम से कम 7 सेंकड तक गूँजतीहै| यह चुंबकीय ध्वनि शरीर के सात उपचार केंद्रों (चक्र) को जागृत करती है।
  • मंदिर में बजने वाली घंटी की कंपन वायुमंडल में हवाओं के प्रवाह के साथ दूर तक जाती है जो कीड़े और अवांछित कणों को मार देती है और हवा को साफ करती है
  • मंदिरों में घंटी के डिजाइन का भी एक अर्थ होता है। घंटे का लटकन में सरस्वती माता का वास माना जाता है और घंटी का घुमावदार शरीर अनंतस्वरूप को दर्शाता है| घंटी का हैंडल हनुमान से जुड़ी अत्यंत शक्ति का प्रतीक माना जाता है| मंदिरों में आरती शुरू करने से पहले मंदिरों में घंटी ज़रूर बजाते है। आरती से पहले मंदिर की घंटी बजाना एक तरह की रस्म है। ऐसी मान्यता है कि घंटी की आवाज से बुरी और नकारात्मक ऊर्जा दूर भागती है। मंदिर की घंटी आपके शरीर की आंतरिक इंद्रियों (Senses) को एकाग्र करती है। आपके मन को ज्यादा संवेदनशील बनाती है और भगवान में ध्यान लगाने में मदद करती है।
  • जैसा की स्कन्द पुराण दावा करती है, कि मनुष्य मंदिरों में घंटी बजाकर अपनी जिंदगी में अब तक उसने जितने भी पाप किए है उन सभी को धो सकता है। कई मंदिरों में मन्नत पूरी करने के लिए घंटियाँ भी बांधी जाती है और जब मन्नत पूरी हो जाती है तो भक्त मंदिर में जाकर वो घंटी खोल देता है।

Read news about hindu temple bells ringing, hindu temple, spiritual.

 

ऐसी ही और जानकरी के लिए हमारे न्यूजलेटर को सबस्क्राइब करें और फेसबुक,ट्विटर और गूगल पर हमें फ़ॉलों करें।

hindu temple bells ringing

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Copyright © 2018 Tentaran.com. All rights reserved.