इन राजनेताओं के बेटों का राजनीति में नहीं चला जादू, सियासी दांव-पेच में हुए फेल

Hit father but flop son in politicsऐसे कई राजनेता हैं, जिन्होंने राजनीति में अपनी पकड़ बना रखी है और कई चुनावों में अच्छे बहुमत से जीत भी हासिल की है। लेकिन उनके बेटे राजनीति में अपना जादू नहीं चला पाए। इस बार के लोकसभा चुनाव में कई राजनेताओं ने अपने बेटों को चुनावी मैदान में उतारा, लेकिन उन्होंने जीत हासिल नहीं कर पाई और हार गए। तो चलिए आपको इन बाप- बेटों की जोड़ी के बारे में बताते हैं।    

Hit father but flop son in politics 

राजीव गांधी— राहुल गांधीराहुल गाँधी - राजीव गाँधी

  • अमेठी को राहुल गांधी का गढ़ कहा जाता था। इस सीट से 2004 में पहली बार वो सासंद के तौर पर निर्वाचित हुए थे। 40 साल में पहली बार कांग्रेस पार्टी को अपने इस गढ़ से हाथ धोना पड़ा।
  • इस बार के चुनाव में राहुल गांधी को स्मृति इरानी ने हराकर जीत हासिल की। 1981 में कांग्रेस की तरफ से राजीव गांधी ने इस सीट से चुनाव लड़ा था।
  • तब उन्हें यहां से जीत मिली थी। वे 1991 तक इस सीट से सांसद रहे थे, लेकिन राहुल इस सीट को संभालने में नाकामयाब रहें।  

Must read –कांग्रेस के इन नेताओं को झेलनी पड़ी शर्मनाक हार, शामिल हैं कई बड़े नाम 

अशोक गहलोत— वैभव गहलोत

अशोक गहलोत— वैभव गहलोत

  • राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने 6 महीने पहले ही विभानसभा चुनाव में भाजपा को हराकर राज्य में सरकार बनायी है।
  • अशोक गहलोत ने अपने गढ़ माने जाने वाले जोधपुर से अपने बेटे वैभव को लोकसभा चुनाव लड़वाया, लेकिन वो यहां से बेटे को जिता नहीं पाए।
  • जोधपुर सीट से अशोक गहलोत पांच बार सांसद रहे हैं, लेकिन उनका बेटा इस सियासी दांव पेच में फेल हो गया।

माधोराव सिंधिया- ज्योतिरादित्य सिंधियामाधोराव सिंधिया- ज्योतिरादित्य सिंधिया

  • मध्यप्रदेश के गुना लोकसभा सीट से कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने चुनाव लड़ा। लेकिन वो भी जीत का बिगुल नहीं बजा पाए।
  • ऐसा पहली बार हुआ जब राजवंश का कोई सदस्य चुनाव हारा है। इन्हें भाजपा उम्मीदवार के.पी यादव ने इन्हें 125549 मतो से धूल चटाई है।
  • ज्योतिरादित्य सिंधिया पूर्व केन्द्रीय मंत्री माधवराव और महारानी माधवी राजे के पुत्र है। माधवराव सिंधिया कांग्रेस के कद्दावर नेता हुआ करते थे।
  • एक वक्त पर उन्हें भी मध्य प्रदेश के सीएम पद का प्रबल उम्मीदवार माना जाता था। उन्होंने भी इस सीट से चुनाव जीते थे।  

Must read – बीजेपी के इन दिग्गजों ने दी विपक्षी नेताओं को पटखनी

अजित पवार- पार्थ पवार

अजित पवार- पार्थ पवार

  • पार्थ पवार ने महाराष्ट्र की मावल लोकसभा सीट से पहली बार चुनाव लड़ा, लेकिन वो भी जीत की राह नहीं कपड़ पाए और हार गए।
  • ये महाराष्ट्र के पूर्व उपमुख्यमंत्री और राकांपा के वरिष्ठ नेता अजित पवार बेटे हैं। यह दिग्गज नेता शरद पवार की तीसरी पीढ़ी है, जो अब राजनीति में उतरी है।

मुरली देवड़ा – मिलिंद देवड़ा

मुरली देवड़ा - मिलिंद देवड़ा

  • मुरली देवड़ा के बेटे मिलिंद देवड़ा ने कांग्रेस के टिकट पर दक्षिणी मुंबई सीट से चुनाव लड़ा। इससे पहले मिलिंद यहां से दो बार सांसद चुने जा चुके थे।
  • लेकिन इस बार उन्हें शिवसेना के अरविंद सावंत से हार का सामना करना पड़ा। उनके पिता मुरली देवड़ा कांग्रेस के पूर्व राजनेता हैं।
  • अपने पिता की तरह मिलिंद भी कांग्रेस पार्टी का प्रतिनिधित्‍व करते हैं।

Must read- बीजेपी के ये स्टार नेता हैं पार्टी की असली पहचान

To read more stories like Hit father but flop son in politics, do follow us on Facebook, Twitter, and Instagram

Leave a Reply

Your email address will not be published.

The content and images used on this site are copyright protected and copyrights vests with their respective owners. The usage of the content and images on this website is intended to promote the works and no endorsement of the artist shall be implied. Read more detailed ​​disclaimer
Copyright © 2018 Tentaran.com. All rights reserved.