महिला क्रिकेट की तेंदुलकर मिताली राज की लाइफ से जुड़े फैक्ट्स

Mithali raj biography in hindi –  मिताली राज, यह  वह नाम है जिनके कदम मैदान में पड़ते ही पूरा स्टेडियम तालियों की गड़गड़ाहट से गूँज उठता है। जब यह क्रीज़ पर बल्लेबाजी करने उतरती हैं, तो बड़े से बड़े बॉलर की भी आफत आ जाती है। रिकॉर्ड के मामले में तो महिला क्रिकेट में इनके आस-पास तक कोई नज़र नहीं आता। यूँ ही नहीं इन्हें महिला क्रिकेट की सर्वोत्तम खिलाड़ी का दर्जा दिया गया है। तो चलिए  जानते हैं महिला क्रिकेट की तेंदुलकर मिताली राज की लाइफ से जुड़े फैक्ट्स

Mithali raj biography in hindi

Mithali raj biography in hindi

  • 3 दिसंबर 1982 को जोधपुर, राजस्थान में मिताली राज का जन्म हुआ।

Mithali raj biography

  • उनके पिता दोराई राज भारतीय वायुसेना में वारंट ऑफिसर के पद पर थे और मां लीला राज एक हाउसवाइफ हैं।
  • महज 10 साल की उम्र में ही मिताली ने क्रिकेट की कोचिंग लेना शुरू कर दिया था। वह अपने बड़े भाई के साथ कोचिंग लेने जाया करती थीं।

Must Read: Mithali Raj Exclusion: Powar Submits Report to BCCI

  • कहते हैं कि उनका खेल उनकी उम्र के हिसाब से काफी बेहतर था, इसलिए 17 साल की उम्र में ही वह भारतीय महिला क्रिकेट टीम के लिए चुन ली गईं।

Mithali raj biography

  • साल 1999 में मिताली ने अपनी ओडीआई करियर की शुरुआत की और पहले ही मैच में उन्होंने धुआंधार 114 रनों की पारी खेली।
  • ओडीआई में धमाका मचाने  के बाद मिताली ने 2001-2002 में टेस्ट क्रिकेट में भी धूम मचा दी। साउथ अफ्रीका के खिलाफ अपने तीसरे टेस्ट में मिताली ने दोहरा शतक लगाते हुए 214 रनों की पारी खेली। इतना ही नहीं इसके साथ ही उन्होंने कैरन रॉल्टन का नाबाद 209 रन का रिकॉर्ड तोड़ते हुए खुद का नाम विश्व भर में प्रसिद्ध कर दिया।

Mithali raj biography

  • मिताली राज की कप्तानी में भारतीय महिला क्रिकेट टीम पहली बार 2005 में क्रिकेट वर्ल्ड कप के फाइनल में पहुंची, लेकिन फाइनल मुकाबले में उन्हें ऑस्ट्रेलिया के हाथों हार झेलनी पड़ी।
  • बेहतरीन बल्लेबाजी के साथ-साथ मिताली एक बढ़िया पार्ट टाइम बॉलर भी हैं। कई अहम मौकों पर उन्होंने अपनी बॉलिंग का जलवा दिखाया।
  • माना जा रहा है कि इस समय मिताली से बढ़िया कोई महिला बल्लेबाज है ही नहीं। ऐसा इसलिए क्योंकि वह पहली महिला बल्लेबाज हैं जिसने 6000 रनों का आंकड़ा छुआ है।
  • टी-20 में भी मिताली ने अपने हुनर को दिखाया और 2000 रन बनाकर ऐसा करने वाली वह पहली महिला क्रिकेटर बनीं।
  • मिताली के नाम लगातार 7 अर्धशतक बनाने का भी रिकॉर्ड दर्ज है।
  • एक कप्तान और बल्लेबाज़ दोनों तौर पर ही मिताली ने खुद को साबित किया। क्रिकेट के हर फॉर्मेट में उन्होंने लाजवाब खेल का प्रदर्शन किया।

Mithali raj biography

  • साल 2003 में उन्हें अर्जुन पुरस्कार, 2017 में पद्मश्री पुरस्कार और यूथ स्पोर्ट्स आइकन ऑफ एक्सीलेंस अवार्ड मिला। 2017 में उनका नाम वोग स्पोर्ट्स पर्सन ऑफ़ दी ईयर और बीबीसी 100 वीमेन लिस्ट 2017 में भी शामिल रहा।
  • जल्द ही मिताली राज की बायोपिक भी बनने वाली है।
  • आज मिताली कोमहिला क्रिकेट की  तेंदुलकरके नाम से जाना जाता है। ऐसा इसलिए क्योंकि वह लगातार ही नए-नए रिकॉर्ड अपने नाम कर रही हैं। इतना ही नहीं उनसे प्रेरित होकर ही आज भारत में कई नई पीढ़ी की महिलाएं क्रिकेट से जुड़ रही हैं।

For Latest Updates like Mithali Raj biography in Hindi, do subscribe to our newsletter and follow us on Google+ Facebook, Twitter, Instagram 

ऐसी ही ट्रेंडिंग खबरोंको जानने के लिए हमारे न्यूजलेटर को सबस्क्राइब करें और फेसबुकट्विटर और गूगल पर हमें फ़ॉलों करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

The content and images used on this site are copyright protected and copyrights vests with their respective owners. The usage of the content and images on this website is intended to promote the works and no endorsement of the artist shall be implied. Read more detailed ​​disclaimer
Copyright © 2018 Tentaran.com. All rights reserved.