पढ़िए मुंबई हमले के मास्टरमाइंड हाफिज सईद के कारनामों की पूरी कहानी

Please follow and like us:

Mumbai attack mastermind hafiz saeed  –  मुंबई हमले का मास्टरमाइंड और आतंकी संगठन जमात-उद-दावा प्रमुख हाफिज सईद इस समय लाहौर के कोट लखपत जेल (Kot Lakhpat jail) में बंद है। टेरर फंडिंग के मामले में वह लाहौर की जेल में 11साल की सजा काट रहा है। इसी साल 2020 फरवरी माह में कोर्ट ने उसे 11 साल की सज़ा सुनाई थी। हाफिज सईद भारत की सर्वाधिक वांछित अपराधियों की सूची में शामिल है। चलिए आपको बताते हैं कौन है हाफिज सईद। Hafiz Saeed, 26/11 mumbai attack mastermind

मुंबई हमले का मास्टरमाइंड हाफिज सईद – mumbai attack mastermind hafiz saeed mumbai attack mastermind hafiz saeed arrested in pakistan

  • हाफिज सईद मुंबई में हुए 26/11 आतंकी हमलों का मास्टर माइंड है। 26 नवंबर 2008 को लश्कर-ए-तैयबा के दस आतंकवादियों ने मुंबई को बम धमाकों से पूरी तरह दहला दिया था। इस आतंकी हमले को आज पूरे 12 साल हो गए हैं लेकिन यह भारत के इतिहास का ऐसा काला दिन है जिसे चाह कर भी कोई भूल नहीं सकता। इस आतंकी हमले में तकरीबन 160 से ज़्यादा मासूम लोग मारे गए थे और 300 से अधिक लोग घायल हुए थे। कई भारतीय जवान भी इस दौरान शहीद हुए थे।
  • 26/11 के हमले को याद करके आज भी लोगों को दिल दहल उठता है। आतंकियों ने मुंबई के ताज होटल समेत 6 जगहों पर आतंकी हमले किए थे। लगातार तीन  दिन तक आतंकियों का सामना करते रहे थे भारतीय सुरक्षा बल के जवान। इस दौरान कई धमाके हुए, आग लगी और न जाने कितनी अनगिनत गोलियां चली। हमले की कार्यवाही के दौरान जवानों ने एक आतंकी अजमल क़साब को वहां से ज़िंदा गिरफ्तार कर लिया गया था। इस पूरे हमले का मास्टर माइंड हाफिज सईद था। इसी के कहने पर आतंकियों ने इस हमले को अंजाम दिया था। इसी के कहने पर मुंबई को बम धमाकों  से दहलाया गया था।

अब कहां है हाफिज सईद

  •  ऐसी खबरें है कि उसे आतंकी वित्त पोषण के मामलों में गिरफ्तार किया गया था और अब वो टेरर फंडिंग के मामले में लाहौर की कोट लखपत जेल में 11 साल की सजा काट रहा है। इसी साल फरवरी 2020 में कोर्ट ने उसे 11 साल की सज़ा सुनाई है।

हाफिज पर दर्ज हैं टेरर फंडिंग के 41 केस – Hafiz Saeed, 26/11 mumbai attack mastermind

  • मुंबई 26/11 हमले का मास्टरमाइंड हाफिज सईद को पाकिस्तान की एंटी टेरर कोर्ट ने टेरर फंडिंग के दो मामले में 10 साल 6 महीने की सज़ा सुनाई है। कोर्ट ने 19 नवंबर 2020 को ये सज़ा सुनाई है। अदालत ने हाफिज सईद को सजा के साथ – साथ उसकी संपत्ति जब्त करने का भी आदेश दिया है और 1.1 लाख रुपये का जुर्माना भी लगाया है।
  • खबरों की माने तो हाफिज सईद पर टेरर फंडिंग समेत 41 मामले दर्ज हैं, जिनमें से 24 केस में फैसला हो चुका है और बाकी मामलों की सुनवाई अभी पाकिस्तान की एंटी टेरर कोर्ट में चल रही है।

MUST READ – Hemant Karkare: ATS Chief And 26/11 Hero

कौन है हाफिज सईद (Hafiz Saeed) – Hafiz Saeed, 26/11 mumbai attack mastermind

  • हाफिज मुहम्मद सईद का जन्म पाकिस्तान के पंजाब प्रांत के सरगोधा में 10 मार्च 1950 को हुआ। ये अरबी और इंजीनियरिंग का पूर्व अध्यापक रहा है और जमात-उद-दावा का संस्थापक है। 
  • जमात-उद-दावा एक चरमपंथी इस्लामी संगठन है जिसका मकसद भारत के कुछ हिस्सों और पाकिस्तान में इस्लामी शासन स्थापित करना है।
  • हाफिज द्वारा यह संगठन तब बनाया गया था जब पाकिस्तान में लश्कर-ए-तैयबा पर प्रतिबंध लगाया था। 11 सितंबर 2001 में अमेरिका पर हमला हुआ था जिसके बाद अमेरिका ने लश्कर-ए-तैयबा को विदेशी आतंकी संगठन घोषित किया था। 
  • इसके बाद साल 2002 में पाकिस्तानी सरकार ने भी लश्कर पर प्रतिबंध लगा दिया। प्रतिबंध लगने के बाद हाफिज सईद ने लश्कर-ए-तैयबा का नाम बदलकर जमात-उद-दावा रखा दिया था, लेकिन हाफिज सईद ने इस बात को कभी कबूला नहीं। 
  • संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने मुंबई आतंकी हमलों के बाद दिसंबर 2008 में जमात-उत-दावा को आतंकी संगठन घोषित किया था। 
  • मुंबई हमलों के बाद सईद पर अंतरराष्ट्रीय दबाव को देखते हुए पाकिस्तान ने छह महीने से कम समय तक नजरबंद रखा था। लाहौर हाईकोर्ट के आदेश के बाद उसे 2009 में रिहा कर दिया गया था।

MUST READ – Vijay Salaskar: One Of India’s Best Encounter Specialist

इन आतंकी हमलों में रहा है सईद का हाथ Terrorist Attack – 26 \ 11 Mastermind Hafiz Saeed

  • 22 दिसंबर 2000 को लालकिले पर हमला लश्कर-ए-तैयबा द्वारा किया गया था। इसे 6 आतंकियों ने अंजाम दिया था। हमले में सेना दो जवान शहीद हो गए थे और एक अन्य की मौत हुई थी। 
  • 13 दिसंबर 2001 को संसद पर हमला किया गया था। ये भी लश्कर के आतंकियों ने किया था। दिल्ली पुलिस द्वारा पांचों आतंकियों को ढेर किया गया था। कार्रवाई में 8 पुलिसकर्मी भी शहीद हुए थे।
  • 24 सितंबर 2002 को गुजरात के गांधीनगर के अक्षरधाम मंदिर पर लश्कर-ए-तैयबा और जैश-ए-मोहम्मद के दो आतंकियों ने हमला किया था। इस हमले में 30 लोग मारे गए थे।
  • 29 अक्टूबर 2005 को दिल्ली में तीन जगह सीरियल ब्लास्ट किए गए थे। आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा ने पहाड़गंज, सरोजिनी नगर मार्केट और गोविंदपुरी में हमला किया। 
  • 11 जुलाई 2006 को मुंबई की लोकल ट्रेनों में सात बम धमाके हुए थे। इस हमले में इंडियन मुजाहिद्दीन संगठन का हाथ होने की बात सामने आई थी जिसमें लश्कर ने प्रमुख रूप से सहयोग दिया था।
  • 26/11 मुंबई आतंकी हमला सबसे बड़ा हमला था। लश्कर-ए-तैयबा के 10 आतंकी ने मंबई की अलग-अलग जगहों पर हमला किया था जिसमे कई लोगों की जान गई थी। हमलावरों में से एक आतंकवादी अजमल कसाब को जिंदा पकड़ा गया था। 

MUST READ – Facts That You Must Know About Ashok Kamte

अमेरिका (america) ने सईद को वैश्विक आतंकी घोषित किया – 2008 Mumbai terror attack mastermind Hafiz Saeed 

  • अमेरिका ने सईद को वैश्विक आतंकी घोषित किया है। 2012 से इसके ऊपर अमेरिका ने एक हजार करोड़ डॉलर का इनाम घोषित कर रखा है। 
  • इसके साथ ही भारत ने भी सईद के खिलाफ इंटरपोल रेड कार्नर नोटिस जारी कर रखा है।

MUST READ -भारत को मिली बड़ी कामयाबी जैश-ए-मोहम्मद सरगना मसूद अजहर वैश्विक आतंकी घोषित

For more articles like Mumbai attack mastermind hafiz saeed, हमारे फेसबुकट्विटर और इंस्टाग्राम पर हमें फ़ॉलो करें और हमारे वीडियो के बेस्ट कलेक्शन को देखने के लिए, YouTube पर हमें फॉलो करें।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

The content and images used on this site are copyright protected and copyrights vests with their respective owners. We make every effort to link back to original content whenever possible. If you own rights to any of the images, and do not wish them to appear here, please contact us and they will be promptly removed. Usage of content and images on this website is intended to promote our works and no endorsement of the artist shall be implied. Read more detailed ​​disclaimer
Copyright © 2019 Tentaran.com. All rights reserved.
× How can I help you?