सुभाष चंद्र बोस की यादों को समर्पित है उनके फेमस म्यूज़ियम,स्टेडियम और भवन

Please follow and like us:

Subhas Chandra Bose Museum India –  नेताजी सुभाष चंद्र बोस का जन्म 23 जनवरी 1897 को ओडिशा के कटक में हुआ था। उनके संघर्षों और देश की सेवा के जज़्बे को देखते हुए महात्मा गांधी ने उन्हें देशभक्तों का देशभक्त कहा था। कई बार उन्होंने युवाओं को देश की सेवा के लिए प्रोत्साहित किया और अपने विचारों से लोगों के लिए प्रेरणा बनें। इनके इसी देश प्रेम को देखते हुए हमारे भारत में इनकी याद में कई म्यूज़ियम, स्टेडियम और भवन बनाए गए, जिनमे उनकी कई यादों को समेटा गया है। इन्हें  देखने के लिए दुनिया भर से लोग आते हैं। तो चलिए आपको बताते हैं कहां- कहां इनकी याद में बनाए गए म्यूज़ियम, स्टेडियम और भवन आदि।

subhas chandra bose museum india

Subhas Chandra Bose Museum India | सुभाष चंद्र बोस के फेमस संग्रहालय

क्रांति मंदिर सुभाष चंद्र बोस संग्रहालय,लाल क़िला (Kranti Mandir Netaji Subhas Chandra Bose Museum Red Fort)

  • आईएनए के खिलाफ जो मुकदमा दायर किया गया था उसकी सुनवाई लाल किले के परिसर में की गई थी, यही वजह है कि दिल्ली में सुभाष चंद्र बोस का म्यूज़ियम बनाया गया।
  • म्यूज़ियम का उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया था। इसमे सुभाष चंद्र बोस और आज़ाद हिंद फौज से जुड़ी चीजों को प्रदर्शित किया गया है।
  • इसके अलावा यहां नेताजी द्वारा इस्तेमाल की गई तलवार, कुर्सी के साथ ही आईएनए से जुड़े पदक, वर्दी, बैज और अन्य चीजें भी देखी जा सकती हैं।
  • यहाँ दर्शकों के लिए पेंटिंग, फोटो, पुराने रिकॉर्ड, अखबार की कटिंग, ऑडियो-वीडियो क्लिप, मल्टीमीडिया और एनिमेशन की भी सुविधा भी दी गयी है।

Subhas Chandra Bose Museum India

नेताजी जन्मस्थान संग्रहालय कटक (netaji birth place museum – cuttack)

  • कटक उनका जन्मस्थान है। कटक के जिस घर में सुभाष चंद्र बोस रहा करते थे उसे म्यूज़ियम में तब्दील कर दिया गया है।
  • हर साल काफी लोग इस म्यूज़ियम को देखने आते हैं, यहां सुभाष चंद्र बोस का सारा सामान रखा हुआ है।
  • उनके घर के लिविंग रूम को गैलरी में तब्दील कर दिया गया है और उनकी निजी चीजों से लेकर अन्य सामान को प्रदर्शनी के तौर पर लगाया गया है। इस गैलरी में बोस के लिखे हुए 22 खत भी प्रदर्शित किए गए हैं, जो उन्होंने कभी अपने परिजनों को लिखे थे।
  • इस म्यूज़ियम में वह घोड़ा गाड़ी भी है, जिसका इस्तेमाल उनकी फैमिली करती थी।
  • हर साल यहाँ नेताजी की जयंती के दिन म्यूज़ियम को सजाया जाता है और ब्लड डोनेशन कैंप लगाया जाता है।
  • आप यहाँ सोमवार से शनिवार तक जा सकते हो, रविवार को ये बंद रहता है।

Subhas Chandra Bose Museum India

subhas chandra bose museum

Must read: Subhas Chandra Bose Quotes Images, Slogans, Status and Wishes

नेताजी भवन (Netaji Bhawan,Kolkata)

  • नेताजी भवन कोलकाता का एक क्षेत्र है जिसे उनकी स्मारक और अनुसंधान केंद्र के रूप में बनाया गया है।
  • एल्गिन रोड पर स्थित, इस जगह की देख रेख अब कलकत्ता नगर निगम करता है।
  • इसके अलावा उनके नाम से यहाँ के एक मेट्रो स्टेशन भी है।

सुभाष चंद्र बोस म्यूज़ियम (Netaji Subhash Chandra Bose Museum, Kurseong)

  • दार्जिलिंग में स्थित यहाँ आप नेताजी से जुड़ा पुराना इतिहास देख सकते हैं।
  • 4 कमरों वाला यह संग्रहालय कोलकाता द्वारा डिज़ाइन किया गया है।
  • इस म्यूज़ियम में आपको सुभाष चंद्र बोस के अलावा शरत चंद्र बोस से जुड़े दस्तावेज़ भी देखने को मिलेंगे। शरत चंद्र बोस सुभाष चन्द्र बोस के बड़े भाई थे।
  • 1933 और 1935 के बीच, शरतचंद्र को इस जगह पर 2 साल के लिए नज़रबंद किया गया था।

Subhas Chandra Bose Museum India

नेताजी सुभाष चंद्र बोस अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा (Netaji Subhash Chandra Bose International Airport)

  • पश्चिम बंगाल में स्तिथ अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे का नाम नेताजी की याद में उन्हें समर्पित किया किया गया है।

Must Read: जानिए आज़ाद हिंद के नेता सुभाष चंद्र बोस की मौत का रहस्य

नेताजी सुभाष चंद्र बोस सेतु (Netaji Subhas Chandra Bose Setu)

  • कथाजोदी नदी पर बनें इस पुल को नेताजी सेतु के नाम से भी जाना जाता है।
  • पुल की लंबाई 88 किलोमीटर है और यह ओडिशा का सबसे लंबा पुल है।
  • इसका उद्घाटन 19 जुलाई, 2017 को ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने किया गया था।
  • यह पुल भुवनेश्वर और कटक शहरों को जोड़ता है इसलिए पुल का नाम नेताजी सुभाष चंद्र बोस के नाम पर रखा गया था क्योंकि नेताजी का जन्म कटक में हुआ था।

Subhas Chandra Bose Museum India

Must read: Netaji Subhash Chandra Bose biography and facts on his anniversary

अंडमान (Andaman)

  • साल 2018 में केंद्र सरकार ने अंडमान के तीन दीपों का नाम बदलकर भारतीय कर दिए थे जिसमें से एक नाम नेताजी सुभाष चंद्र को समर्पित था।
  • इन दीपों में हैवलॉक का नाम स्वराज द्वीप, नील द्वीप का नाम शहीद द्वीप और रॉस द्वीप को नेताजी सुभाष चंद्र द्वीप के नाम पर रखा गया।

नेताजी सुभाष चंद्र प्रौद्योगिकी संस्थान,बिहटा (Netaji Subhas Institute of Technology, Bihta)

  • पटना के बिहटा में स्थित यह एक इंजीनियरिंग कॉलेज है, जो नेताजी को समर्पित है।
  • जिसमे बी.टेक. एवं डिप्लोमा पाठ्यक्रम उपलब्ध हैं और यह आर्यभट्ट ज्ञान विश्वविद्यालय, पटना से एफिलिएटेड है।

Subhas Chandra Bose Museum India

अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान भुवनेश्वर (All India Institute of Medical Sciences, Bhubaneswar)

  • भुवनेश्वर में स्थित एक मेडिकल कॉलेज और चिकित्सा अनुसंधान सार्वजनिक विश्वविद्यालय है, जो सुभाष चंद्र बोस को समर्पित है।

नेताजी इंडोर स्टेडियम (Netaji Indoor Stadium, calcutta)

  • कोलकाता में यह एक इनडोर स्पोर्ट्स स्टेडियम है,जिसे सुभाष चंद्र बोस के सम्मान के लिए बनाया गया है।
  • इस स्टेडियम में 12,000 लोगों के आने की जगह है।
  • वर्तमान में,यह प्रो कबड्डी लीग टीम बंगाल वारियर्स का घर है।
  • सालाना इस स्टेडियम में खेल प्रतियोगिता के साथ-साथ सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित होते हैं।

Subhas Chandra Bose Museum India

डीडीए नेताजी सुभाष स्पोर्ट्स काम्प्लेक्स (DDA Netaji Subhash Sports Complex)

  • यह नई दिल्ली के जसोला विहार में स्थित एक स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स है।
  • साल 2000 में नेताजी सुभाष चंद्र बोस को श्रद्धांजलि देने के लिए इस खेल परिसर का उद्घाटन किया गया।

Must read: Subhash Chandra Bose biography – प्रेरणा स्रोत है सुभाष चंद्र बोस की ज़िंदगी

Must read: Netaji Subhash Chandra Bose Quotes in Hindi – नेताजी सुभाष चन्द्र बोस के अनमोल विचार

Read more stories like: Subhas Chandra Bose Museum India, हमारे फेसबुकट्विटर और इंस्टाग्राम पर हमें फ़ॉलो करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

The content and images used on this site are copyright protected and copyrights vests with their respective owners. We make every effort to link back to original content whenever possible. If you own rights to any of the images, and do not wish them to appear here, please contact us and they will be promptly removed. Usage of content and images on this website is intended to promote our works and no endorsement of the artist shall be implied. Read more detailed ​​disclaimer
Copyright © 2019 Tentaran.com. All rights reserved.
× How can I help you?